माँ केला देवी मंदिर

दिशा

कैला देवी मंदिर का पुराना इतिहास है। देश में मां कैला के दो ही मंदिर हैं। पहला राजस्थान में और दूसरा संभल के भूड़ इलाके में। यहां नवरात्र में शेर के देवी दर्शन को आने की बात कही जाती है। मंदिर परिसर में स्थित बरगद के पेड़ का भी काफी महत्व है। बताया जाता है कि बरगद का यह पेड़ सात सौ वर्ष पुराना है। यदुवंश की कुलदेवी मां कैलादेवी के सोमवार को दर्शन करने का विशेष महत्व है।

फोटो गैलरी

  • केला देवी प्रचीन मंदिर
  • केला देवी मन्दिर भीतरी
  • केला देवी मन्दिर ऊपरी

कैसे पहुंचें:

बाय एयर

निकटतम कामकाजी घरेलू हवाई अड्डा पंत नगर शहर है, 146 किमी दूर, दूसरा हवाई अड्डा देहरादून हवाई अड्डा है। संभल देहरादून हवाई अड्डे (डीईडी), देहरादून, उत्तराखंड से 235 किमी दूर है। आईजीआई दिल्ली 170 किमी दूर है।

ट्रेन द्वारा

यहां से निकटतम रेलवे स्टेशन 6 किमी है

सड़क के द्वारा

संभल बस स्टैंड यहां से 6 किलोमीटर दूर है। ऑटो स्टैंड और स्टेशन रोड से ऑटो और ई-रिक्शा आसानी से उपलब्ध हैं